Saturday , May 25 2019
Loading...
Breaking News

आइये जानतें हैं, अस्थंमा बीमारी लक्षण और ऐसे रखें ख्याल

अस्थंमा की कठिनाई कई लोगों में हो जाती है  उनके ज़िंदगी भर की कठिनाई ही जाती है लेकिन इससे राहत पाने के कई तरीके होते हैं आज हम उनके ही बारे में बताने जा रहे हैंइस बीमारी में खासी, सांस लेने में दिक्कत जैसी कई समस्याएँ आती हैं इस रोग के बढ़ने से अस्थमा अटैक भी हो सकता हैं जो कि गंभीर स्थिति में जानलेवा साबित हो सकता हैं तो जानिए इसमें आपको कैसे ख्याल रखना है

* इस बात का ख्याल रखें कि आप अपने बैडरूम की सफाई अच्छी तरह  नियमित रूप से करें इससे कमरे में धूल मिट्टी नहीं रहेगी  आपकी प्रॉब्लम नहीं बढ़ेगी

* अपने पालतू जानवरों को अपने साथ न सुलाएं इसके अतिरिक्त अस्थमा पेशेंट को जानवरों से थोड़ी दूर रहना चाहिए क्योंकि उनके बॉडी के बालों में मौजूद धूल मिट्टी आपकी सांस नली को बंद कर सकती है

* अपने सिर को ऊंचा रखकर ही सोएं अगर आपको जुकाम या साइनस इंफैक्शन है तो पीठ के बल लेटने से अटैक की संभवाना बढ़ सकती है इसलिए यह प्रॉब्लम होने पर हमेशा करवट लेकर सोएं

* अस्थमा के मरीज को एक ब्ल्यू रिलीवर इन्हेलर दिया जाता है, जिसे उन्हें हमेशा अपने साथ रखना पड़ता है जब भी आपको अस्थमा के लक्षण महसूस हो तो इन्हेलर का प्रयोगकरें इससे आप अस्थमा अटैक से बच सकते हैं अपने चिकित्सक को यह बताना होगा कि आप रिलीवर का प्रयोग सप्ताह में कितनी बार करते हैं

* अगर आप इसका आवश्यकता से ज्यादा इस्तेमाल करने पर आपको एक प्रीवैंटर इन्हेलर दिया जाएगा इसमें स्टीरॉयड बैक्लोमेटाजोन मौजूद होता है, जो फेफड़ों में सूजन को कम करता है  अस्थमा अटैक को रोकता है

* काम्बीनेशन इन्हेलर का अस्थमा पेशेंट को तब दिया जाता है, जब रिलीवर प्रीवैंट इन्हेलर से मरीज की अस्थमा कंट्रोल नहीं हो पाती अस्थमा अटैक से बचने के लिए इस इन्हेलर को नियमित रूप से प्रयोग करना पड़ता है

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *